पटना
बिहार में सीएम नीतीश कुमार और पूर्व डेप्युटी सीएम तेजस्वी यादव के बीच एक बार फिर राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है। एक ओर जहां नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी की एक बैठक में विरोधियों को राजनीतिक सूझबूझ वाला बताते हुए इशारों में कटाक्ष करने की कोशिश की, वहीं तेजस्वी ने इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शुक्रवार शाम कई ट्वीट किए। तेजस्वी ने अपने एक ट्वीट में नीतीश से यह भी कहा कि आप 15 साल से सीएम हैं, फिर भी आप में अकेले चुनाव लड़ने का माद्दा नहीं है।

नीतीश कुमार ने अपनी बैठक में विरोधियों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जिन लोगों में ‘राजनीतिक सूझबूझ की कमी’ है वह उन पर निजी हमले करके प्रचार पाने की कोशिश करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, 'उनमें से कुछ लोगों ने बेशर्मी से यह स्वीकार किया है कि उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि यह उनकी यूएसपी (खासियत) है।'

इस बयान की प्रतिक्रिया में तेजस्वी ने ट्वीट करते हुए लिखा,'मुख्यमंत्री जी कहते है मुझे कुछ नहीं आता? ठीक है चाचा, कुछ नहीं आता फिर क्यों मुझे उपमुख्यमंत्री बनाया? मेरे विभागीय कार्यों को देखकर क्यों बेचैनी होने लगी थी? अगर आपको नेता प्रतिपक्ष के प्रति ऐसी अशोभनीय टिप्पणी करने में मानसिक सुख प्राप्त होता है तो कृपया आप ऐसा प्रतिदिन करिए।'

नीतीश को दी खुली बहस की चुनौती
इसके आगे तेजस्वी ने लिखा,'नीतीश जी, मैं नेता प्रतिपक्ष हूं और आप सीएम। अगर आपके कुप्रबंधन, लूट और नाकामियों को जनता के समक्ष रखना आपको मेरा अज्ञान लगता है तो यह आपका अज्ञान है। ससम्मान कहता हूं जितनी मेरी उम्र है उससे ज़्यादा आपका अनुभव। फिर भी आपकी पसंद के किसी भी विषय पर खुली बहस की विनम्र चुनौती देता हूं।'

Source : Agency