श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से बुधवार को घाटी में कॉलेज खोलने के प्रयास नाकाम रहे क्योंकि छात्र कक्षाओं में नहीं पहुंचे। जम्मू-कश्मीर से पांच अगस्त को विशेष दर्जा वापस लिए जाने के फैसले को बुधवार को 66 दिन हो गए। कश्मीर के मंडल आयुक्त बशीर खान ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि कश्मीर में तीन अक्टूबर को स्कूल और नौ अक्टूबर को कॉलेज फिर से खोल दिए जाएंगे।
अधिकारियों ने कहा कि कॉलेजों में कर्मचारी तो पहुंचे लेकिन छात्र नहीं। प्रशासन की काफी कोशिशों के बावजूद स्कूलों में भी छात्र नहीं पहुंचे। घाटी के अधिकतर हिस्सों में बंद और संचार सेवाओं पर रोक के चलते सुरक्षा कारणों से परिजन अपने बच्चों को स्कूल या कॉलेज नहीं भेज रहे हैं। बुधवार को पूरे कश्मीर में आम जनजीवन बाधित रहा। शहर में सार्वजनिक वाहन सड़कों से नदारद रहे, लेकिन जहांगीर चौक पर निजी वाहनों की आवाजाही के चलते भीषण जाम देखा गया।


उधर, दुकानदारों ने राज्य से विशेष दर्जा वापस लिए जाने पर विरोध दर्ज कराने के लिए अपनी दुकानें तड़के से लेकर सुबह करीब 11 बजे तक ही खोलीं। पूरी घाटी में लैंडलाइन टेलिफोन सेवाएं बहाल हैं, लेकिन कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में मोबाइल टेलिफोन सेवाएं और इंटरनेट सेवाएं पांच अगस्त से निलंबित हैं।

Source : Agency