नई दिल्ली

इन दिनों फिटनेस ट्रैकर, स्मार्टवॉच, स्मार्ट स्मार्ट स्पीकर और स्मार्टहोम जैसे गैजेट्स काफी पॉप्युलर हो रहे हैं। अब एक नई स्टडी में सामने आया है कि इन सभी डिवाइस के हैक होने का खतरा अधिक है। स्टडी में कहा गया है कि लो एनर्जी ब्लूटूथ डिवाइस के हैक होने की ज्यादा आशंका रहती है। कंप्यूटर ऐंड कम्यूनिकेशंस सिक्यॉरिटी पर लंदन में चल रही एक कॉन्फ्रेंस में यह सामने आया। यह कॉन्फ्रेंस 11 से 15 नवंबर तक आयोजित की गई।
ब्लूटूथ पेयरिंग के वक्त हैकिंग की संभावना
स्टडी में बताया गया कि किसी मोबाइल ऐप से जब डिवाइस को ब्लूटूथ को जरिए पेयर किया जाता है उस वक्त डिवाइस के हैक होने का खतरा रहता है। इसके बाद डिवाइस जब ऑपरेट की जाती है तब भी इसके हैक होने का भी खतरा रहता है।
ये डिवाइस हो सकते हैं हैक

स्टडी में बताया गया कि ब्लूटूथ से कनेक्ट होने वाली स्मार्ट डिवाइस के हैक होने का ज्यादा खतरा रहता है। ऐसे में फिटनेस ट्रैकर, स्मार्ट थर्मोस्टैट, स्मार्ट स्पीकर या स्मार्ट होम हैकिंग के लिए ज्यादा संवेदनशील होते हैं।
यूजर्स के डेटा का मिस यूज पहले भी होता रहा है। इससे पहले ऐसी खबरें भी आई थीं कि स्ट्रीमिंग सर्विस का भी ज्यादा इस्तेमाल आपकी प्रिवेसी को खतरे में डाल सकता है। हाल ही में कुछ रिसर्च में यह सामने आया है कि कई बार यूजर अपनी इन्फर्मेशन छिपाने की कोशिश करते हैं इसके बावजूद यूजर्स की परमिशन के बिना उनका डेटा कलेक्ट करके फेसबुक, गूगल और नेटफ्लिक्स जैसी कंपनियों के साथ शेयर किया जाता है। eMarketer के एनलिस्ट Ross Benes का कहना है कि अब लोगों की अटेंशन पाना पहले से मुश्किल है। इसके लिए ढेर सारे डेटा की जरूरत पड़ती है।

Source : Agency