रायपुर
देश में सोने की स्मगलिंग (Gold Smuggling) मामले में डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) ने बड़ी कार्रवाई की है. बांग्लादेश (Bangladesh) से सोने की तस्करी कर लाई गई बड़ी खेप को पकड़ा गया है. डीआरआई (DRI) ने पश्चिम बंगाल के कोलकता, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायपुर (Raipur) और महाराष्ट्र के मुंबई में पैन-इंडिया ऑपरेशन के तहत कार्रवाई कर लगभग साढ़े 16 करोड़ रुपये का सोना जब्त किया है. डीआरआई ने सोने की तस्करी करने वाले सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया है. कोलकाता, रायपुर और मुंबई के विभिन्न स्थानों में आयोजित ऑपरेशन के दौरान डीआरआई ने लगभग 42 ग्राम सोने और आभूषणों को जब्त किया है.

डीआरआई (DRI) के मुताबिक बांग्लादेश से भारत (India) में तस्करी करके लाए गए विदेशी मूल के सोने (Gold) को गोविंद मालवीय के कोलकता स्थित आवासीय परिसर बिनायक एन्क्लेव, ब्लॉक 4, फ्लैट -404 में छुपा कर रखा गया था. उक्त आवासीय परिसर की तलाशी लेने पर 5 करोड़ 57 लाख रुपये कीमती सोने की सलाखें, बिस्कुट, कटे हुए टुकड़ों और आभूषणों को बरामद किया गया है. सीमा शुल्क अधिनियम, 1962 के तहत इसको जब्त किया गया है. इसके अलावा सात संदिग्धों को भी गिरफ्तार किया गया है. इनमें गोविंद मालवीय, अन्ना राम, महेंद्र कुमार, फिरोज मुल्ला, सूरज मगबुल मुल्ला, कैलाश जगताप, विशाल अंकुश माने शामिल हैं.

डीआरआई के मुताबिक 9 और 10 दिसंबर को की गई जांच में पता चला है कि आरोपी गोविंद मालवीय ने समरसता एसएफ एक्सप्रेस और एलटीटी कुर्ला एक्सप्रेस में दो और खेपों को भेजा है. डीआरआई अधिकारियों ने रायपुर और मुंबई में वाहकों को रोक लिया और उक्त दोनों अभियानों से सोने की तस्करी कर विदेशी मूल के क्रमशः 8 किलोग्राम और 7 किलोग्राम सोना बरामद किए. सोने के प्राप्तकर्ता साहिल जैन के साथ गोपाराम और मिलन कुमार नाम के तीन व्यक्तियों को सीमा शुल्क अधिनियम के प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया. कोलकता, मुंबई और रायपुर से जब्त किए गए कुल सोने की ​कीमत करीब साढ़े 16 करोड़ रुपये आंकलन की गई है.

Source : Agency