फैमिली प्लानिंग करना, बच्चे की प्लानिंग करना, ये सारी बातें आसान नहीं होतीं। बहुत सी महिलाओं को आपने देखा होगा कि उन्हें कंसीव करने यानी गर्भधारण करने में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं होती। वे बड़ी आसानी से प्रेग्नेंट हो जाती हैं। वहीं कुछ महिलाओं को कंसीव करने में काफी वक्त लगता है। आपको पता ही नहीं होता कि कब और किस महीने आपका प्रेग्नेंसी टेस्ट पॉजिटिव होगा। लेकिन परेशान होने की जरूरत नहीं। अगर आप प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रही हैं तो हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी बुरी आदतों के बारे में जिन्हें आपको तुरंत बदल देना चाहिए...

​स्मोकिंग और ड्रिंकिंग
स्मोकिंग सेहत के लिए कितना हानिकारक है ये जानते हुए वैसी महिलाएं जो स्मोकिंग करती हैं वे भी प्रेग्नेंट हो जाने के बाद सिगरेट पीना बंद कर देती हैं ताकि होने वाले बच्चे को किसी तरह का नुकसान ना हो। लेकिन अगर आप प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रही हैं तब भी बेहद जरूरी है कि आप सिगरेट और तंबाकू से दूर रहें। स्मोकिंग करने से मिसकैरिज का खतरा बढ़ जाता है, होने वाले बच्चे में जन्मजात दोष का भी खतरा रहता है। सिगरेट के साथ-साथ शराब पीना भी बंद कर दें। ऐल्कॉहॉल के सेवन से पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं, ऑव्यूलेशन में कमी हो जाती है और हॉर्मोन्स का लेवल भी बिगड़ जाता है जिस वजह से गर्भधारण करने में दिक्कतें आती हैं।

​कैफीन का सेवन
कैफीन में कमी करने का मतलब ये नहीं कि आपको चाय-कॉफी पीना पूरी तरह से बंद कर देना है। आपको बस इसकी क्वॉन्टिटी में कमी करनी है और कॉफी या कैफीन इनटेक को सीमित मात्रा में करना है। ज्यादा कैफीन के सेवन से ब्लड प्रेशर बढ़ता है और कई दूसरे तरह के नुकसान भी होते हैं। लिहाजा बच्चे की प्लानिंग कर रही हैं, प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो चाय-कॉफी का सेवन कम कर दें।

​बहुत ज्यादा एक्सर्साइज या वर्कआउट
अगर आप भी फिटनेस फ्रीक हैं, आपको अपने वर्कआउट और एक्सर्साइज से बहुत ज्यादा प्यार है, ये सारी बातें अपनी जगह पर बिलकुल ठीक हैं। लेकिन अगर आप कंसीव करने की कोशिश कर रही हैं तो बेहद जरूरी है कि एक्सर्साइज, वर्कआउट सबकुछ लीमिट में रहकर करें। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि बहुत ज्यादा एक्सर्साइज करने वाली महिलाओं को गर्भधारण करने में बहुत वक्त लगता है। जो महिलाएं बहुत ज्यादा वर्कआउट करती हैं उनका मेन्स्ट्रुअल साइकल बिगड़ जाता है और इसका सीधा असर आपकी फर्टिलिटी पर पड़ता है।

​डेंटल हेल्थ पर ध्यान न देना
अब आप सोच रही होंगी कि डेंटल हेल्थ का प्रेग्नेंसी से क्या लेना देना है? तो जवाब ये है कि अगर आप अपने ऑरल हाइजीन और डेंटल हेल्थ का ख्याल नहीं रखती हैं तो प्रेग्नेंसी के वक्त प्रीमच्योर डिलिवरी होने का खतरा बढ़ जाता है। मुंह की साफ-सफाई और डेंटल हेल्थ अगर बुरी है तो पुरुषों में स्पर्म काउंट पर इसका काफी असर पड़ता है जिस वजह सेफीमेल पार्टनर को प्रेग्नेंट होने में दिक्कतें आती हैं। लिहाजा प्रेग्नेंट होने से पहले ही डेंटिस्ट से अपना पूरा चेकअप करवाएं।

​हरी सब्जियां न खाना
अगर आप प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रही हैं तो बेहद जरूरी है कि आप खुद को फिट और हेल्दी बनाए रखें और इसके लिए हेल्दी डायट का सेवन करना बेहद जरूरी है। ऐसे में जंक फूड और फास्ट फूड जैसी चीजों को छोड़कर हरी सब्जियों से दोस्ती करें। हरी पत्तेदार सब्जियों में फॉलिक ऐसिड और विटमिन बी होता है जो प्रेग्नेंट होने से पहले ही शरीर के लिए बेहद जरूरी है। ये दोनों न्यूट्रिएंट्स बच्चे में किसी भी तरह की दिक्कत होने से रोकते हैं। अगर प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो हरी सब्जियां खाना शुरू कर दें।

Source : Agency