रायपुर

निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर गरीब एवं कमजोर वर्ग के लोगो के लिए अत्यंत उपयोगी है। हमारे समाज के ऐसे लोग जो बीमारियों से ग्रसित होने के उपरांत भी अपने खराब आर्थिक स्थिति के कारण बड़े शहरों एवं चिकित्सालयों में जाकर अपना इलाज नहीं करा पाते हैं, ऐसे लोगों के लिए यह शिविर बहुत ही लाभप्रद साबित होगा। यह बात राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उईके ने कही। राज्यपाल कालड़ा मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर द्वारा आज महारानी अस्पताल जगदलपुर में आयोजित निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण एवं सर्जरी शिविर को संबोधित कर रही थीं।
    राज्यपाल सुश्री उईके ने कहा कि मेरे आग्रह पर कालड़ा मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर द्वारा महारानी अस्पताल जगदलपुर में निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया है। इस शिविर में हमारे समाज के असंख्य लोग जो गरीबी के कारण अपने बच्चे एवं स्वयं के कटे-फटे होंठ तथा हाथ-पैर के विकृतियों का इलाज नहीं करा पाते हैं, उनका निःशुल्क इलाज हो पाएगा। उन्होंने कहा कि गरीब परिवार के अनेक लोगो का हाथ-पैर कट जाने के बाद उचित इलाज नहीं कराने के कारण उनमें जीवन भर का अपंगता आ जाता है। कटे-फटे होठों के कारण जीवन भर शारीरिक विकृति का अभिशाप झेलना पड़ता है। ऐसे लोगो के लिए यह शिविर किसी वरदान से कम नहीं होगा। उन्होंने इस शिविर को विकासखण्ड स्तर में आयोजित करने की आवश्यकता बताई, जिससे की आम ग्रामीणजन अधिक से अधिक लाभांवित हो सकें। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि आज के इस शिविर का लाभ बस्तर संभाग के अधिक से अधिक लोगो को मिलेगा।
    इस कार्यक्रम में कालड़ा मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल रायपुर के संचालक डॉ. सुनील कालड़ा, महारानी अस्पताल जगदलपुर के अधीक्षक डॉ. विवेक जोशी एवं अन्य चिकित्सकों को प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर विधायक जगदलपुर श्री रेखचंद जैन, महापौर श्रीमती सफीरा साहू सहित संभागायुक्त श्री अमृत कुमार खलखो, आईजी श्री पी. सुन्दरराज के अलावा चिकित्सकों तथा बड़ी संख्या में मरीज एवं उनके परिजन उपस्थित थे।

Source : Agency