अश्काबाद (तुर्कमेनिस्तान)
तुर्कमेनिस्तान रविवार से दर्शकों की मौजूदगी में एक बार फिर अपना फुटबॉल सत्र शुरू कर रहा है। तुर्कमेनिस्तान दुनिया के उन कुछ देशों में शामिल है जहां अब तक कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है। मध्य एशिया के इस देश ने दुनिया के अन्य देशों के नक्शेकदम पर चलते हुए मार्च में आठ टीमों की अपनी लीग निलंबित कर दी थी। उस समय सत्र में सिर्फ तीन मुकाबले हुए थे।

राष्ट्रीय फुटबॉल महासंघ ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन की सिफारिशों का हवाला देकर लीग निलंबित की थी। एक महीने बाद देश में फुटबॉल की वापसी हो रही है और दर्शक स्टेडियमों में पहुंचने को लेकर उत्साहित हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय हालांकि चिंतित है कि तुर्कमेनिस्तान इस महामारी के खतरे को गंभीरता से नहीं ले रहा है।

34 साल के एक व्यवसायी अशीर युसुपोव ने मजाकिया लहजे में कहा, ''खुशी से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।'' युसुपोव ने कहा कि वह रविवार को गत चैंपियन एल्टिन एसिर और शीर्ष पर चल रहे कोपेटडेग के बीच यहां होने वाले मुकाबले को देखेंगे। युसुपोव ने कहा कि अन्य देशों में खेल प्रतियोगिताओं पर लगे प्रतिबंध के बावजूद उन्हें भीड़-भाड़ वाली जगहों का डर नहीं है।

अफ्रीकी चैंपियन्स लीग और अफ्रीकी कनफेडरेशन कप फाइनल्स को कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने के खतरे के कारण स्थगित कर दिया गया है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।ये दोनों फुटबॉल प्रतियोगिताएं मई में होनी थीं। अफ्रीकी फुटबॉल परिसंघ (सीएएफ) ने शनिवार को बयान में कहा, ''कनफेडरेशन कप और चैंपियन्स लीग फाइनल्स 2019-2020 को अगली सूचना तक स्थगित किया जाता है।

कैमरून के दोआला शहर में 29 मई को चैंपियन्स लीग का फाइनल होना था जबकि मोरक्को की राजधानी रबात में 24 मई को कनफेडरेशन कप का फाइनल खेला जाना था। सीएएफ ने कहा, ''विभिन्न हितधारकों के साथ विचार विमर्श के बाद समय आने पर नया कार्यक्रम घोषित किया जाएगा।

 

Source : Agency