भोपाल। 
राजभवन ने गुरूवार को बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, विक्रम विवि उज्जैन और भोपाल के रविंद्रनाथ टैगोर विवि को नैक (राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद) का अग्रेडेशन लेने के लिए प्रेजेंटेशन देने के लिए बुलाया था। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने तीनों विवि के नैक के प्रेजेंटेशन को देख लिया है। प्रेजेंटेशन देखने के बाद उन्होंने बीयू को अपने ग्रेड में सुधार करने के लिए निर्देशित किया है। 

बीयू को नैक का बी ग्रेड हासिल है। उसके ग्रेड में सुधार करने के लिए राज्यपाल पटेल ने बीयू के साथ विक्रम विवि के कुलपति बालकृष्ण शर्मा और रविंद्रनाथ टैगोर विवि के कुलपति को प्रेजेंटेशन देने के लिए बुलाया था। बीयू ने अपना प्रेजेंटेशन दिया है। इस दौरान राज्यपाल पटेल ने कुलपति आरजे राव और रजिस्ट्रार अजित श्रीवास्तव को निर्देशित किया है कि उनके पास नैक का अग्रेडेशन सुधारने के लिए एक साल का समय है। इसके लिए वे पूरी तैयारी करें। 

उन्हें नैक के बी ग्रेड से निकलकर ए ग्रेड में शामिल होना होगा। उन्होंने बताया कि विवि के कम्प्यूटराईजेशन में नैक काफी महत्व देता है। इसमें उन्हें 100 में से 70 अंक हासिल होते हैं। इसलिए कुलपति राव कम्प्यूटर के जानकार कर्मचारियों की तलाश में लग गए हैं। उनकी अभाव में वे कम्प्यूटर दक्ष कर्मचारियों को कंसलटेंशी से कर्मचारियों को रखने की व्यवस्था में लग गए हैं। हालांकि कुलपति राव ने डमी नैक की टीम बनाकर विवि के हरेक विभाग का परीक्षण करा लिया है। इसमें आई कमी को दूर करने के लिए वे प्रयास रह हैं। 
 

Source : Agency