कलेक्टर श्री सिंह ने प्रशिक्षु डिप्टी कलेक्टर्स एवं उप पुलिस अधीक्षकों को दी सीख

होशंगाबाद।लोक सेवक के रूप में काम करते समय गरीब एवं वंचित वर्ग के लोगों पर फोकस करें। हमेशा यह प्रयास करें कि शासकीय योजनाओं का लाभ इन लोगों को मिल सकें। ऐसे लोगो को न्याय दिलाने पर आप निश्चित रूप से एक अच्छे अधिकारी बन पाएँगे। यह सीख कलेक्टर शीलेंद्र सिंह ने जिले के भ्रमण पर आएँ प्रशिक्षु डिप्टी कलेक्टर्स एवं उप पुलिस अधीक्षकों को दी। उल्लेखनीय है कि आरसीवीपी नरोन्हा प्रशासन अकादमी में प्रशिक्षणरत 103 वें फाउंडेशन कोर्स के प्रशिक्षु अधिकारियों के तीन दल जिले के भ्रमण पर आए थे। एक दल ने पिपरिया की सिंगानामा ग्राम पंचायत, दूसरे ने सोहागपुर की शोभापुर पंचायत तथा तीसरे ने सिवनीमालवा के शिवपुर में तीन दिन तक रहकर ग्रामीण परिवेश की समस्याओं एवं शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन को समझा तथा अवलोकन के आधार पर प्रजेंटेशन तैयार कर कलेक्टर श्री सिंह एवं जिला प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत किया। कलेक्टर ने प्रशिक्षु अधिकारियों द्वारा प्रस्तुत प्रजेंटेशन की प्रशंसा की तथा उन्हें लोक सेवक के रूप में आगामी जीवन के लिए सीख देते हुए कहा कि आप लोग एक जिम्मेदार पद पर पहुँचे है। देश के प्रति अपनी  जिम्मेदारी अच्छी तरह निभाइएॅ। अच्छे अधिकारी बनिएॅ क्योंकि आप इन चंद लोगो में से हैं जिन्हें यह अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि अपने समय का उपयोग स्वयं को सुधारने में करें। अपनी कमियॉ दूर करेंगे तो व्यवस्थाएँ निश्चित तौर पर बेहतर बन पाएँगी। उन्होंने महापुरूषों का उदाहरण देते हुए कहा कि जीवन में समाज के लिए कुछ ऐसा कार्य करें कि आने वाली पीढियाँ आपकों याद रखें।

      कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि लोकसेवक के जीवन में अनेक प्रकार के लोग मिलते हैं। हमें यह कोशिश करनी चाहिए कि हम हर काम में बुराई निकालने वाले लोगों पर ध्यान न देकर अच्छा काम करें। हमेशा कुछ नया सीखने का प्रयास करें। उन्होने प्रशिक्षु अधिकारियों से कहा कि ट्रेनिंग का दौर नौकरी का सबसे अच्छा परंतु सबसे महत्वपूर्ण समय है। इस दौरान अच्छी तरह सभी चाजें सीखेंगे तो अच्छे अधिकारी बन पाएॅगे। करियर के शुरू के 2-3 सालों में किए गए कार्यो से ही एक अधिकारी के रूप में आपकी इमेज बनेगी।

      पुलिस अधीक्षक एमएल छारी ने सभी प्रशिक्षु अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि अपने कर्तव्य को अच्छी तरह निभाने के लिए शारीरिक रूप से फिट रहना बहुत जरूरी हैं। इसलिए शारीरिक व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। साथ ही परिवार के लिए समय अवश्य निकालें। हमेशा नियमों के अनुसार सहीं काम करें। प्रशिक्षु अधिकारियों के तीनों दलों द्वारा प्रजेंटेशन में माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान किए गए अवलोकन की जानकारी विस्तार से दी गई। उन्होंने इन क्षेत्रों में व्याप्त समस्याओं के संबंध में अपने सुझाव भी दिए।

      इस अवसर पर अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी, सीईओ जिला पंचायत एस एस रावत, संयुक्त कलेक्टर आदित्य रिछारिया, तहसीलदार शैलेंद्र बड़ौनिया उपस्थित रहें।