क्लीन इटारसी, ग्रीन इटारसी का संकल्प लिया
इटारसी। नगर पालिका का स्वास्थ्य अमला क्लीन इटारसी, ग्रीन इटारसी के संकल्प के साथ काम करेगा। स्वच्छता अभियान 2020 की तैयारी में इस संकल्प के साथ उतरा जाएगा। शनिवार से सभी स्वच्छता दूत वर्दी में ड्यूटी पर दिखेंगे और वार्ड के नागरिकों से सफाई का सत्यापन होगा। रजिस्टर की हर रोज जांच की जाएगी। यह निर्णय शुक्रवार को दोपहर नगर पालिका में हुई स्वच्छता समिति की बैठक में लिया।
स्वच्छता विभाग सभापति राकेश जाधव की अध्यक्षता में हुई स्वास्थ्य समिति की बैठक में हेल्थ आफिसर एसके तिवारी, स्वच्छता निरीक्षक आरके तिवारी सदस्य एवं पार्षद अभिषेक कनोजिया, उपयंत्री आशीष देशभरतार, कमलकांत बडग़ोती, जगदीश पटेल सहित स्वास्थ्य विभाग के जमादारों की उपस्थिति में कई निर्णय लिए गये जो आगामी दिनों में शहर को स्वच्छता और हरियाली के लिए मील का पत्थर साबित होंगे। बैठक में स्वच्छता अभियान 2020 के तैयारी के लिए क्लीन इटारसी ग्रीन इटारसी का संकल्प लिया गया है। 
बैठक में विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बरसात पूर्व बड़े नालों की जेसीबी से सफाई कराने का काम प्रारंभ हो गया है। तय किया है कि शनिवार को सभी स्वच्छता दूत वर्दी में रहेंगे। वार्डों में सफाई के बाद वार्ड के नागरिकों से सत्यापन कराया जाएगा और हर रोज रजिस्टर की जांच होगी। युद्ध स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा।इसके अलावा शासन के निर्देश पर अमल शुरु होगा जिसमें मैरिज गार्डनों को नोटिस देकर डिस्पोजल पर सख्ती से प्रतिबंध लगाया जाएगा। इसी तरह से कचरा सड़क पर फैकने वालों पर जुर्माना वसूलने का प्रस्ताव पारित किया गया।  
स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के संबंध में स्वच्छता बैठक में स्वास्थ्य सभापति राकेश जाधव ने समस्त वार्ड पर्यवेक्षकों को हिदायत दी कि स्वच्छता संबंधी शिकायत नहीं आना चाहिए। शिकायत का निराकरण तत्काल किया जाए नहीं तो वार्ड पर्यवेक्षकों पर कार्रवाई की जाएगी। समस्त वार्ड पर्यवेक्षक को यह जवाबदारी सौंपी गई कि वे अपने वार्डों की सफाई कर रजिस्टर में वार्डों के नागरिकों द्वारा लिखवा कर लें कि सफाई हो गयी है। शहर के मैरिज गार्डन संचालकों को बताया जाएगा कि सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग करना प्रतिबंधित है, कृपया प्लास्टिक का उपयोग ना करें। शहर के नागरिकों से भी यह अपील की गई कि वह खाली प्लॉट, रोड, नालियों एवं खुले मैदानों में कचरा डालते पाए जाते हैं तो तुरंत जुर्माना किया जाएगा। यह संकल्प भी लिया कि नगर पालिका परिषद द्वारा पहली वर्षा से ही वृक्षारोपण किया जाएगा।