होशंगाबाद। म.प्र. कमलनाथ सरकार अपने 6 माह के कार्यकाल में विफल साबित हुई है। कमलनाथ सरकार के वचन सिर्फ कागजों मे ही पूरे हुऐ है। पूरे म.प्र. में भय, आतंक, अराजकता का माहोल बना हुआ है। शिवराज जी के समृद्व म.प्र. को कमलनाथ कि सरकार ने अशांति का टापू बना दिया है। म.प्र. में बिजली के तारों मे करंट नही दौड़ रहा है, बल्कि बिजली बिलों में करंट है एक बार फिर से म.प्र. मे लालटेन युग की वापसी हुई है यह बात बुधवार को भाजपा जिला कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में भाजपा जिला अध्यक्ष हरिशंकर जायसवाल ने कही। श्री जायसवाल ने पत्रकारों से कहा कि प्रदेश में मासूम बेटियों के सांथ दरिंदगी हो रही है और सरकार की खामोशी शर्मनाक है। म.प्र. मे गुण्डाराज फिर से पनपने लगा है। पिछले 6 महीनों में म.प्र. की जनता ने देखा है कि प्रदेश को एक नहीं दो नहीं बल्कि ढाई मुख्यमंत्री चला रहें है। दस दिन में किसानों का कर्जा माफ करने का वचन देने वाली धोखेबाज सरकार प्रदेश में है, किसी भी किसान का दो लाख तक कर्जा माफ नही हुआ है। होशंगाबाद जिलें में रेत पर रोना रोने वालें कांग्रेसी नेताओं कि अब जुबान बंद है। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में पंचायतों को रेत खदान अधिकार देने का वचन दिया था परंतु कमलनाथ सरकार ने रेत माफियों के सामने घुटने टेक दिये है। म.प्र. में अधिकारी ट्रांसफर से और जनता ट्रांसफारमर से परेशान है। सरकार थोक तबादलों में लगी है। म.प्र. अब 2003 के पहलें जैसा लगने लगा है। जनता को 15 साल के पहलें वाले म.प्र. का एहसास दिलानें के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ जी का धन्यवाद जनता आपको समझ गई और जल्द ही बड़े बदलाव के इंतजार में है। भाजपा कार्यालय में आयोजित इस पत्रकार वार्ता में भाजपा जिला अध्यक्ष हरिशंकर जायसवाल के सांथ भाजपा मण्डल अध्यक्ष मनोहर बड़ानी, भाजयुमो प्रदेश कार्यसमिति सदस्य मनीष परदेशी भी मौजूद थे।