पानी बरसते ही नर्मदांचल जल अभियान ने पकड़ी गति
इटारसी। नर्मदांचल जल अभियान इटारसी अध्याय के अंतर्गत इस रविवार को तीन स्थानों पर एक साथ पर्यावरण और जल संरक्षण के कार्य चले। एक टीम ने खेड़ा तालाब पर श्रमदान किया, दूसरी टीम साईं फाच्र्यून सिटी में पौधरोपण कर रही थी तो तीसरी टीम ने ग्राम जमानी में स्थित तालाब को पहाड़ी नाले से भरने के लिए बोरी बंधान बनाने के लिए श्रमदान किया। जमानी की टीम का नेतृत्व महिला चिकित्सक डॉ. सुनीता सिंह, हेमंत दुबे  और अजय सिंह राजपूत कर रहे थे। साईं फाच्र्यून सिटी में भारतभूषण गांधी और संजय मनवारे तथा खेड़ा तालाब पर कृष्णा राजपूत, कन्हैया गुरयानी कर रहे थे। यहां युवा व्यापारी अर्जुन भोला और सामाजिक और राजनैतिक कार्यकर्ता मयूर जैसवाल ने भी श्रमदान किया। 
जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्यरत नर्मदांचल जल अभियान के सदस्यों ने बारिश की दस्तक के साथ ही अपने काम का दायरा बढ़ा लिया है। इस रविवार को इस अभियान से जुड़े सदस्यों ने तीन स्थानों पर एक साथ काम किया। अब तक खेड़ा तालाब पर श्रमदान, सीडबाल बना रही टीम ने अब बीजारोपण को भी अभियान में शामिल कर लिया है। ये सदस्य अब तक बारिश के इंतजार में थे ताकि अभियान को गति दी जा सके। खेड़ा तालाब पर पत्रकारों के साथ ही हॉकी खिलाडिय़ों और अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं, व्यापारियों ने सहयोग प्रदान किया और तालाब में श्रमदान के माध्यम से एक हिस्से की मिट्टी को तालाब के बाहर निकाला। 
जमानी में आगे आए ग्रामीण
ग्राम जमानी में तिलक सिंदूर रोड पर स्थित तालाब को पानी से लबालब करने के लिए दर्जनों ग्रामीण, गांव के विद्यार्थी और बड़ी संख्या में महिलाएं आगे आयी हैं। इन महिलाओं का नेतृत्व डॉ. सुनीता सिंह कर रही हैं तो पुरुषों का नेतृत्व उन्नत कृषक हेमंत दुबे ने किया। नर्मदांचल अभियान की ओर से अजय सिंह राजपूत ने अपनी भागीदारी निभाकर सहयोग किया। इसके विषय में हेमंत दुबे ने बताया कि नर्मदांचल जल अभियान से प्रेरणा मिली और हमने गांव के तालाब को भरने के लिए पहाड़ी नाले पर बोरी बंधान के माध्यम से श्रमदान किया ताकि यह तालाब भरा रहे। तालाब में मौजूद पत्थरों और अन्य कचरे को हटाकर सफाई कर रही महिलाओं को नेतृत्व करने वाली डॉ. सुनीता सिंह ने कहा कि पानी जीवन की सबसे बड़ी जरूरत है और निश्चित तौर पर हम सबको इसके लिए काम करना होगा। 
कालोनी में बीजारोपण किया
नर्मदांचल जल अभियान के अंतर्गत शहर से सटी ग्राम पंचायत सोनासांवरी की कालोनी साईं फाच्र्यून सिटी में सदस्यों ने आम और खजूर के बीजों का रोपण किया। पिछले हफ्ते भी आम के बीज रोपे गये थे।