होशंगाबाद। प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग एवं होशंगाबाद जिले के कोविड प्रभारी नीरज मंडलोई ने शनिवार 3 अप्रैल को कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में जिले में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की विस्तृत समीक्षा की। प्रमुख सचिव श्री मंडलोई ने कहा कि होम आइसोलेट कोरोना पॉजिटिव मरीजों की डिस्ट्रिक्ट कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर  के माध्यम से सघन निगरानी की जाए, उन्हें स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी होने पर शीघ्र चिकित्सालय में भर्ती किया जाए। कोमोरबिड मरीजों का विशेष ध्यान रखें। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों को समुचित उपचार मिले यह सुनिश्चित किया जाए। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के दृष्टिगत इटारसी शहर में रविवार लॉकडाउन एवं नाइट कफ्र्यू जैसे उपायों पर विचार कर आवश्यक निर्णय लिए जाए। बैठक में कमिश्नर नर्मदापुरम रजनीश श्रीवास्तव, डीआईजी जगत सिंह राजपूत, कलेक्टर धनंजय सिंह, जिला पंचायत सीईओ मनोज सरियाम, अपर कलेक्टर जी पी माली, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश कौशल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
      प्रमुख सचिव श्री मंडलोई ने कहा कि इटारसी में बाहरी राज्यों विशेषकर महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से 3 दिन क्वारंटाइन किया जाए। रेलवे स्टेशन इटारसी में महाराष्ट्र एवं साउथ से आने वाले यात्रियों की सघन मॉनिटरिंग की जाए। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशन इटारसी के पास स्थित लॉज संचालकों के माध्यम से ऐसे यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाए एवं मोबाइल नंबर आदि जानकारी संधारित हो यह सुनिश्चित करें। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाले प्रवासी मजदूरों की भी व्यवस्थित स्क्रीनिंग करें एवं आवश्यकता अनुरूप क्वारंटाइन करें। उन्होंने डिस्ट्रिक्ट कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर एवं फीवर क्लीनिक केन्द्रों को और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि सभी फीवर क्लीनिक सेंटर सक्रिय रहें और उनके माध्यम से सैंपलिंग की कार्रवाई की जाए।
         बैठक में  बताया गया कि रेलवे स्टेशन इटारसी में प्रतिदिन 24 घंटे राजस्व , नगरपालिका एवं स्वास्थ्य के अमले द्वारा बाहर से आने वाले हैं यात्रियों की इंटेंसिव स्क्रीनिंग कार्य किया जा रहा है। साथ ही होम आइसोलेटेड संक्रमित मरीज एवं होम क्वारंटाइन किए गए लोगों के घरों के सामने पोस्टर चस्पा की कार्रवाई की गई है। डिस्ट्रिक्ट कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर के माध्यम से दिन में दो बार होम आइसोलेट कोरोना संक्रमित मरीजों से वीडियो कॉलिंग के माध्यम से चर्चा कर चिकित्सिकीय परामर्श दिया जा रहा है। जिले में कोविड उपचार हेतु ऑक्सीजन बेड एवं ऑक्सीजन सिलेंडर कि पर्याप्त उपलब्धता है जिसकी लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। रोको टोको अभियान के तहत मास्क न पहनने वाले लोगों के विरुद्ध स्पॉट फाइन की कार्रवाई की जा रही है।
     कमिश्नर नर्मदापुरम रजनीश श्रीवास्तव ने कोरोना  संक्रमण से बचाव के लिए जन जागृति अभियान पर विशेष जोर देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मास्क पहनने एवं सोशल डिस्टेंसिंग जैसी आवश्यक सावधानियों से लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होंने नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में  बाजार एवं सार्वजनिक क्षेत्रों में कोविड गाइडलाइन की लगातार मुनादी कराई जाने एवं व्यापक प्रचार प्रसार के निर्देश दिए। प्रमुख सचिव श्री मंडलोई ने जिले में कोरना नियंत्रण के लिए जिला प्रशसन द्वारा किए गए प्रयासों पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कोविड वैक्सीनेशन अभियान की भी विस्तृत समीक्षा की एवं आवश्यक निर्देश दिए।