कहते हैं उम्र बस एक नंबर है अगर आपके अंदर कुछ कर गुजरने का जज्बा है तो आप किसी भी उम्र में कुछ भी हासिल कर सकते हैं. कुछ ऐसा ही कर दिखाया है, स्कॉटलैंड में जन्मे 60 साल के पॉल मार्क्स ने. लॉकडाउन के दौरान मार्क्स की नौकरी चली गई थी और बढ़ती उम्र की वजह से उन्हें कहीं काम भी नहीं मिल रहा था. लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और वो 60 साल की उम्र में कितने फिटे हैं यह साबित करने लिए उन्हें सोशल मीडिया पर पुशअप करने वाला वीडियो शेयर किया. फिर उनके पास नौकरी की लाइन लग गई. 
 
लंकाशायर के रहने वाले पॉल मार्क्स पांच महीने पहले तक दुबई के क्रियोल ग्रुप में मुख्य संचालन प्रबंधक के पद पर काम कर रहे थे. लेकिन लॉकडाउन में कंपनी ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया. इसके बाद मार्क्स ने भारत, यूएई, ब्रिटेन और स्पेन जैसे देशों में नौकरी के लिए आवेदन दिया. लेकिन उम्र के चलते उन्हें कहीं काम नहीं मिला. 
 
पॉल मार्क्स को यह साबित करना था कि वो 60 की उम्र में भी पूरी तरह से फिट हैं. फिर उन्होंने लिंक्डइन पर एक वीडियो पोस्ट किया. जिसमें वो सूट-बूट पहनकर पुशअप लगा रहे हैं. इस वीडियो के वायरल होती है उनके पास ढेरों नौकरी के ऑफर आने लगे.
 
मार्क्स रोज का कहना है कि वो रोज 50 पुशअप और हफ्ते में 30 किलोमीटर दौड़ते हैं. उनका मानना है कि उम्र कभी काबिलियत या उत्पादकता का पैमाना नहीं हो सकती है और जरूरी यह नहीं कि 60 पार हर व्यक्ति अखबार पढ़कर या टीवी  देखकर अपना दिन गुजारे. 
 
लिंक्डन पर मार्क्स के इस वीडियो को कई लाख लोग देख चुके हैं. कई नियोक्ताओं ने उन्हें जॉब की पेशकश की है, जबकि वीडियो डालने से पहले 50 से ज्यादा कंपनियों ने उनका सीवी ठुकरा दिया था.   

Source : Agency