भोपाल
प्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि सारा कट्टरवाद और आतंकवादी मदरसों में पले और बढ़े हैं। जम्मू कश्मीर को आतंकवादियों ki फैक्ट्री बना दिया गया था। उन्होंने मदरसों की पढ़ाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि धर्म आधारित शिक्षा से  कट्टरता पनप रही है।

मंत्री ठाकुर ने मदरसों की शासकीय सहायता बन्द करने की बात कही और कहा कि वक्फ बोर्ड आर्थिक रूप से बहुत मजबूत संस्था है। निजी तौर पर कोई किसी को मदद करना चाहता है तो इसके लिए संविधान में व्यवस्था है। इंदौर में भाजपा के वार रूम में मीडिया से चर्चा में ठाकुर ने पूर्व सीएम कमलनाथ के द्वारा इमामों को वेतन देने के फैसले पर भी आपत्ति की और कहा कि एकता-अखंडता को खंड-खंड करने की रणनीति के लिए ऐसा किया जाता रहा है।

मंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदिवासियों को हिंदू लिखने की अनुमति न देने के फैसला लिया था तो उनसे उनकी मंशा पूछी जानी चाहिए कि आखिर अनादिकाल से जो हिन्दू है। उसके लिए इस तरह की बात क्यों कही गई।

Source : Agency