नई दिल्ली
कोविड-19 महामारी के दबाव में एफडी व अन्य छोटी बचत योजनाओं पर गिरती ब्याज दरों के बीच कई बैंकों ने वरिष्ठ नागरिकों को ज्यादा ब्याज कमाने का मौका दिया है। देश के लगभग सभी बड़े बैंकों ने मई, 2020 में वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष एफडी योजना लॉन्च की थी, जिसकी अंतिम तिथि 31 मार्च, 2021 थी। एसबीआई, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई बैंकों ने विशेष एफडी में निवेश की तारीख बढ़ाकर 30 जून, 2021 कर दी है। योजना के तहत बुजुर्गों को आम ग्राहकों की तुलना में करीब 0.8 फीसदी तक ज्यादा ब्याज मिलता है।

एसबीआई
एसबीआई ने 20 मई, 2020 को वी-केयर नाम से वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष एफडी योजना शुरू की थी। बैंक इस एफडी पर 0.25 फीसदी ज्यादा ब्याज दे रहा है, जो आम ग्राहकों के मुकाबले मिलने वाले 0.50 फीसदी अधिक ब्याज के अतिरिक्त है। इस तरह, बैंक वी-केयर योजना के तहत 5 साल से ज्यादा की एफडी पर आम ग्राहकों की तुलना में वरिष्ठ नागरिकों को 0.75 फीसदी अधिक ब्याज दे रहा है। बैंक 5-10 साल की एफडी पर 6.15 फीसदी ब्याज की पेशकश कर रहा है।

एचडीएफसी
निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक एचडीएफसी ने भी सीनियर सिटीजन केयर नाम से विशेष एफडी निकाली है। बैंक इस पर 25 आधार अंक का ज्यादा ब्याज दे रहा है, जो आम ग्राहकों के मुकाबले मिल रहे 50 आधार अंक ज्यादा के अतिरिक्त है। इस तरह, एचडीएफसी बैंक भी अपने बुजुर्ग ग्राहकों को 5 साल से ज्यादा की एफडी पर 0.75 फीसदी अधिक ब्याज दे रहा है। 30 जून तक इस एफडी में पैसे लगाने वाले बुजुर्गों को सालाना 6.25 फीसदी ब्याज मिलेगा।

आईसीआईसीआई बैंक
निजी क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक ने भी गोल्डन ईयर्स नाम से विशेष एफडी जारी की है, जिसमें निवेश की अंतिम तारीख 30 जून कर दी है। यहां बुजुर्गों को आम ग्राहकों के मुकाबले 0.80 फीसदी ज्यादा ब्याज की पेशकश की जा रही है। योजना के तहत बैंक वरिष्ठ नागरिकों को सालाना 6.30 फीसदी ब्याज दर की पेशकश करता है। 

Source : Agency