नई दिल्ली
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हाल ही के अपने एक बयान में बांग्लादेश पर टिप्पणी की। अमित शाह ने कहा कि बांग्लादेश के गरीब लोग भारत आते हैं क्योंकि उनके पास अपने देश में खाने के लिए पर्याप्त सामान नहीं होता। बंगाल में बीजेपी के आने के बाद ये घुसपैठ पूरी तरह से खत्म होने वाला है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस बयान पर बांग्‍लादेश के व‍िदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। बांग्‍लादेश के व‍िदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने बुधवार (14 अप्रैल) को कहा है कि बांग्लादेश के बारे में भारत के गृह मंत्री के पास ज्ञान "सीमित" है। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह की टिप्पणी "अस्वीकार्य है खासकर तब जब बांग्लादेश और भारत के बीच संबंध इतने गहरे हैं। इस तरह की टिप्पणी गलतफहमी पैदा करती है। बांग्‍लादेश के व‍िदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने दावा किया है कि कई मामलों में हम भारत से बेहतर हैं। भारतीय मीडिया में प्रकाशित अमित शाह की टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर बांग्‍लादेश के व‍िदेश मंत्री एके अब्दुल मोमन की टिप्पणी मंगलवार रात को आई। एके अब्दुल मोमन ने कहा, ''इस दुनिया में कई बुद्धिमान लोग हैं, जो कुछ देखने के बाद भी नहीं देखना चाहते हैं, वे इसे जानने के बाद भी समझना नहीं चाहते हैं। लेकिन, अगर उन्होंने (अमित शाह) यह कहा है, तो मैं कहूंगा कि बांग्लादेश के बारे में उनका ज्ञान सीमित है। बांग्लादेश में भूख से किसी की मौत नहीं होती। बांग्लादेश के उत्तरी जिलों में बस मौसमी गरीबी और भूख है।

मोमेन ने कहा, हम भारत से कई मामलों में बेहतर हैं। जैसे भारत में 50 फीसदी से ज्यादा लोगों के पास शौचालय नहीं हैं, जबकि बांग्लादेश में लगभग 90 प्रतिशत लोग काफी अच्छे शौचालयों का उपयोग करते हैं। बांग्‍लादेश के व‍िदेश मंत्री एके अब्दुल मोमन ने कहा कि उनके देश में भले ही पढ़े-लिखे लोगों के लिए नौकरियां पर्याप्त नहीं हैं, लेकिन कम शिक्षित लोगों के लिए ऐसी कोई कमी नहीं है। हमारे देश में कम शिक्षित लोगों के लिए रोजगार के काफी अवसर। बांग्लादेश में भारत के 1 लाख से अधिक लोग काम करते हैं। हमारे लोग रोजगार के लिए भारत नहीं जाते हैं। हमें भारत जाने की जरूरत नहीं है।
 

Source : Agency