भोपाल
सूबे में संचालित होने वाली पॉलीटेक्निक में वर्तमान सत्र 2021-22 में प्री पॉलीटेक्निक टेस्टी (पीपीटी) के बिना ही प्रवेश दिए जाएंगे। तकनीकी शिक्षा विभाग को शासन से मंजूरी मिलने भर का इंतजार है। तकनीकी शिक्षा सचिव दसवीं की मेरिट के आधार पर पॉलीटेक्निक में प्रवेश कराएगा।

व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी पीपीटी नहीं करा सकेगा। प्रदेश के साथ देशभर में कोरोना का प्रभाव काफी तेज से फैल रहा है। इसके चलते दसवीं और 12वीं की परीक्षाएं एक माह के लिए स्थगित कर दी गई हैं। शासन ने पीपीटी करने के लिए नियम तैयार कर लिए हैं, लेकिन परीक्षा कराने की अनुमति नहीं दी हैं। व्यापमं पीपीटी के फार्म अप्रैल के प्रथम सप्ताह में जमा करना शुरू कर देता है, जो अभी तक नहीं हुए हैं।

पीपीटी स्थगित होने के बाद तकनीकी शिक्षा सचिव गत वर्ष भांति आगामी सत्र 2021-22 में दसवीं की मेरिट के आधार पर प्रदेश के पॉलीटेक्निक में दाखिले कराएंगे। परीक्षा होने से लेकर रिजल्ट जारी होने तक पॉलीटेक्निक में प्रवेश कराने के लिए सचिव को काफी समय तक इंतजार करना होगा। इससे सत्र की अध्ययन व्यवस्था बिगड़ सकती है। इसलिए विभाग ने बिना पीपीटी के सिर्फ दसवीं की मेरिट के आधार पर प्रवेश कराने की व्यवस्था जमाना शुरू कर दिया है। सचिव को सिर्फ शासन से स्वीकृति मिलने मात्र का इंतजार है।

गत वर्ष 21 हजार विद्यार्थियों ने पीपीटी में शामिल होने फॉर्म जमा किए थे। पीपीटी स्थगित होने के बाद व्यापमं अभी तक 75 फीसदी उम्मीदवारों का शुल्क वापस कर सका है। अभी करीब 25 फीसदी विद्यार्थियों को शुल्क वापस नहीं कर सका है। इसलिए क्योंकि व्यापमं के पास उनके बैंक एकाउंट की कोई जानकारी नहीं हैं। विद्यार्थी व्यापमं पहुंचकर अपनी जानकारी देकर शुल्क वापस ले सकते हैं।

प्रदेश में 137 पॉलीटेक्निक संचालित हो रही हैं। इसमें करीब 28 हजार सीटें मौजूद हैं, जिनमें दसवीं के आधार पर प्रवेश दिए जाएंगे। बीफार्मा और डीफार्मा में भी प्रवेश परीक्षा के बिना ही काउंसिलिंग कर प्रवेश दिए जाएंगे।

Source : Agency