भोपाल
राजधानी में कोरोना कर्फ्यू लागू होने के बाद कोरोना संक्रमण कम नहीं हो रहा है। शहर में बीते तीन दिनों में करीब 4600 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। गुरुवार को शहर में रिकार्ड 1637 कोरोना पेशेंट मिले, जो अब तक सबसे बड़ा आंकड़ा है। वहीं, बीते 24 घंटे में 8 मौतें हुई हैं। राजधानी में 6500 सैंपलों में 1637 मरीज मिले हैं, जो करीब 25 फीसदी पॉजीटिव होने का आंकड़ा है। ऐसे में जांच कराने वाला हर चौथा व्यक्ति पॉजीटिव निकल रहा है। ऐसे में राजधानी में अब तक कुल 7314 एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीज हैं।

राजधानी में जिला प्रशासन के निर्देश पर कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया है। इस पर कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर खाद्य एवं सुरक्षा अधिकारी और खाद्य विभाग को शहर के लोगों को राशन की होम डिलीवरी कराने की ड्यूटी दी गई है। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी अरुणेश पटेल ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान जिला प्रशासन के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा विभाग ने तीन दिनों में रिटेल स्टोर/आॅनलाइन स्टोर के माध्यम से शहर में करीब 13056 शहरवासियों को ये होम डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध कराई है।

साथ ही अधिकारियों ने सभी स्टोर संचालको को निर्देशित किया है कि अपने स्टॉफ/डिलीवरी बॉय को कड़ाई से मास्क, ग्लब्स, पहनने को कहें। वे कहीं भी जाएं, तो सोशल डिस्टेंस का पालन करें। सभी डिलीवरी बॉय /स्टाफ की स्क्रीनिंग प्रतिदिन की जाएं। निरीक्षण के दौरान किसी प्रकार की लापरवाही पाए जाने पर संबंधित स्टोर का लाइसेंस और अनुमति निरस्त कर संचालकों और डिलीवरी बॉय के विरुद्ध भी कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

भोपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ कोलार के बाद गोविंदपुरा शहर का सबसे बडा कंटेनमेंट क्षेत्र बन गया है। इसमें थाना अशोका गार्डन, निशातपुरा, छोला, बजरिया, अयोध्या नगर सहित अन्य क्षेत्र शामिल हैं। वहीं करोंद से लेकर अयोध्या बायपास और अशोका गार्डन से लेकर मिनाल रेसीडेंसी तक बैरिकेडिंग कर अनावश्यक आवाजाही रोकने के लिए गलियां बंद कर दी गई है।

Source : Agency