कोलकाता  
बंगाल में रविवार को चुनावी नतीजे आने के बाद से कई इलाकों में हिंसा भड़क गई। खासतौर पर नंदीग्राम में बीजेपी के दफ्तर में तोड़फोड़ और हिंसा की खबरें आ रही हैं। बीजेपी बंगाल चीफ दिलीप घोष ने भी आरोप लगाया है कि नतीजों के बाद उनकी पार्टी के करीब 100 दफ्तरों और कार्यकर्ताओं के घरों को तबाह कर दिया गया और कुछ को आग के हवाले कर दिया गया है। हिंसा के मामलों के मद्देनजर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बंगाल पुलिस के डायरेक्टर जनरल को राजभवन बुलाकर तलब किया। वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

एक तरफ बीजेपी का आरोप है कि रविवार को उनका कम-से-कम एक कार्यकर्ता मारा गया है तो वहीं ममता ने कहा है कि टीएमसी का एक कार्यकर्ता बर्धमान में मारा गया है। पश्चिमी मिदनापुर के पिंगला और साउथ 24 परगना के सोनारपुर में भी दो लोगों की हत्या की खबर है। राज्यपाल धनखड़ ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा, 'राज्य के कई हिस्सों में हिंसा, हत्या और आगजनी की खबरों से परेशान हूं। पार्टी दफ्तरों, घरों और दुकानों पर हमले किए गए हैं। स्थिति खतरनाक है।' गवर्नर ने यह भी बताया कि उन्होंने कानून व्यवस्था को लेकर पश्चिम बंगाल पुलिस के डीजीपी को तलब किया है।

बता दें कि राज्य के चुनाव में टीएमसी ने 292 में से 213 सीटें जीती हैं। वहीं, बीजेपी को 77 सीटों पर जीत मिली है। हालांकि, ममता बनर्जी को नंदीग्राम सीट पर बीजेपी के शुभेंदु अधिकारी से हार का सामना करना पड़ा। 

Source : Agency