भोपाल
 राजधानी में 10 मई तक कोरोना कर्फ्यू (corona curfew) जारी है। अब प्रशासन इसमें और सख्ती कर सकता है। कलेक्टर अविनाश लवानिया (collector) ने कहा है कि मूवमेंट को लगातार कम करने की आवश्यकता है। इसी के साथ जरूरत पड़ी तो और कड़े कदम उठाए जा सकते हैं।

भोपाल में कोरोना संक्रमण के की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए कोरोना कर्फ्यू में कुछ और सख्त फैसले लिए जा सकते है। इसके तहत राजधानी में हफ्ते में सिर्फ 2 दिन पेट्रोल पंप (petrol pump) खोले जाने पर बड़ा फैसला हो सकता है। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा है कि लगातार मूवमेंट रोकने के लिए प्रयास किया जा रहे हैं। इसी के साथ वे क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्यों से भी लगातार संपर्क में हैं और बहुत सारे विषयों पर विचार चल रहा है। उन्होने कहा कि क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी से बातचीत कर और सख्ती लागू करने पर विचार किया जा सकता है।

बता दें कि लगभग एक महीने से लागू कोरोना कर्फ्यू का प्रभाव अब नजर आने लगा है। संक्रमण दर और और मरीजों की संख्या में कुछ कमी दर्ज की जा रही है। पिछले 24 घंटों में भोपाल में संक्रमण दर में 6 प्रतिशत की कमी आई है। 24 घंटों में 8687 सैंपल की जांच में 1673 नए मरीज सामने आए हैं वहीं 1817 मरीज स्वस्थ हुए हैं।

Source : Agency