नई दिल्ली 
आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दिल्ली में पार्टी के आला नेताओं के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक करेंगे। वहीं, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राज राज बब्बर ने चुनाव आयोग के आयुक्तों की नियुक्ति पर एक तरह से सवाल उठा दिए हैं। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग भले ही अगले साल होगी, लेकिन इसकी गूंज सुनाई देने लगी है। हिमांशु जैन नायक नाम के एक यूजर ने लिखा, 'ये महज संयोग नहीं, यूपी चुनाव के लिए सफल प्रयोग है। लेकिन बड़का झूठा पार्टी को जनता हार का करेंट लगा कर ही दम लेगी।' इसके अलावा जितेंद्र डोंगरे ने लिखा, 'सर, चुनाव आयुक्त चुनाव आयोग का एक अधिकारी होता है और भारत देश का नागरिक होता है, वो कहीं से भी हो सकता है। कृपया यूपी, बिहार छोड़िए और कुछ ढंग का काम कीजिए तभी आप सत्ता में वापस आ सकते हैं।'

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश कैडर के 1984 बैच के रिटायर आईएएस अधिकारी अनूप चंद्र पांडेय को हाल ही में चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया है। इनकी नियुक्ति के बाद अब चुनाव आयोग में मुख्य चुनाव आयुक्त समेत तीन लोग हो गए हैं। अनूप चंद्र पांडेय 2019 में उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव के पद से रिटायर हुए थे। हालांकि, योगी सरकार ने उनका कार्यकाल 6 महीने के लिए बढ़ा दिया था। पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा के रिटायर होने के बाद से 3 सदस्यीय कमिशन में एक पद खाली था। अब अनूप चंद्र की नियुक्ति के बाद तीनों पद भर गए हैं। अनूप चंद्र पांडेय की नियुक्ति को लेकर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं। उनके ट्वीटर कवर फोटो को भी मुद्दा बनाा गया, जिसमें वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ दिख रहे थे।

Source : Agency