नई दिल्ली 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (शनिवार को) सरदार वल्लभभाई पटेल नेशनल पुलिस एकेडमी में ट्रेनी आईपीएस अफसरों से संवाद किया। यहा उन्होंने ने ट्रेनी आईपीएस अफसरों से कई सवाल पूछे और उनसे सुझाव मांगे। पीएम ने ट्रेनी आईपीएस अफसरों से कहा कि आपकी युवा लीडरशिप देश को आगे बढ़ाएगी। पीएम मोदी ने कहा फील्ड में रहते हुए आप जो भी फैसले लें, उसमें देशहित होना चाहिए, राष्ट्रीय परिपेक्ष्य होना चाहिए। यहां प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत में पुलिस बल के साथ एक "नकारात्मक अर्थ" जुड़ा हुआ है,  अधिकारियों को छवि सुधारने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए। सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में बातचीत करते हुए प्रधान मंत्री ने कहा, "कोविड -19 संकट पहली बार आने पर यह धारणा अस्थायी रूप से बदल गई, लेकिन चीजें वापस वहीं हैं जहां वे थी'।

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की ओर इशारा किया और कहा कि बचाव और राहत कार्यों में शामिल कर्मियों के साथ बहुत विश्वास जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा, पुलिस को अपनी सार्वजनिक छवि को भी सुधारने का प्रयास करना चाहिए, खासकर जब से देश वर्तमान में अपने इतिहास के सबसे गंभीर फेज से एक से गुजर रहा है।  पीएम मोदी ने आईपीएस ट्रेनी नवजोत सैनी से कहा कि आपने पुलिस महकमे को चुना, इससे मुझे खुशी है। पुलिस विभाग में महिलाओं की भागीदारी बढ़ रही है। ये देश के लिए अच्छा है। इससे पुलिसिंग सिस्टम और मजबूत होगा। महिला अफसरों पर देश को गर्व है।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आप सभी लोग सरदार वल्लभभाई पटेल नेशनल पुलिस एकेडमी में ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आने वाले समय में अलग-अलग राज्यों में पुलिस अधिकारी बनेंगे।  आप मन से देश की सेवा कीजिए। नक्सलवाद पर सरकार ने लगाम लगाई है। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में विकास हुआ है। मैं आशा करता हूं कि युवा लीडरशिप इसे आगे बढ़ाएगी।

Source : Agency