जबलपुर
 जबलपुर में शनिवार को फिर पाँच फर्जी पत्रकारों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि शुक्रवार को ही 4 फर्जी पत्रकार ब्लैकमेल के आरोप में गिरफ्तार हुए थे। मामला एक महिला के आपत्तिजनक वीडियो बनाने और ब्लैकमेलिंग से जुड़ा है।

 

दरअसल महिला का आपत्तिजनक वीडियो बनाने वाले मामले में मदनमहल पुलिस ने 5 और आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि इससे पहले पुलिस ने शुक्रवार को 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार हुए आरोपियों पर ब्लेकमेलिंग, हिन्दूवादी संगठन और फर्जी पत्रकार की धौंस दिखाकर वसूली करने का आरोप है। पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। गुरुवार की रात को मदनमहल थाने में महिला ने ब्लैकमेलिंग गैंग के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। महिला ने पुलिस थाने में शिकायत कर बताया कि आरोपी आपत्तिजनक वीडियो बनाकर एक लाख रुपए मांग कर रहे थे। पैसे नहीं मिलने पर आरोपियों ने उस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

पुलिस ने महिला की शिकायत पर शुक्रवार को अर्पित ठाकुर, रवि बेन, जेपी सिंह, शैलेंद्र गौतम, पंकज गुप्ता, संतोष जैन सहित अन्य के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट, छेड़छाड़, आपत्तिजनक वीडियो वायरल करना, धमकी सहित कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर लिया था। इसके बाद पुलिस ने 4 और आरोपी पंकज उर्फ अरुण गुप्ता, विवेक मिश्रा, जेपी सिंह, संतोष जैन को गिरफ्तार कर लिया गया था। शनिवार को पुलिस ने गिरोह के पांच सदस्यों को उनके घर से दबोच लिया जिनमें अंकित श्रीवास्तव निवासी लमती, विजयनगर, बादल पटैल निवासी बिलपुरा, रांझी, कोमल पटैल निवासी जसूजा सिटी, धन्वंतरी नगर, बबला उर्फ दिलीप थोरात निवासी लालमाटी, घमापुर और प्रेम सिंह लोधी ग्राम लूटी, थाना शहपुरा शामिल हैं।

 

Source : Agency