बालों को लंबा और घना बनाए रखने के लिए सालों से नहीं बल्कि सदियों से सरसों के तेल का उपयोग हो रहा है। हम सभी भारतवासी श्रीराम के वंशज हैं और उस समय भी सरसों के तेल के दीये जलाए जाने का वर्णन धार्मिक ग्रंथों में मिलता है। दरअसल सरसों का तेल हमारे संस्कारों में रचा-बसा तेल है। यह रसोई में उपयोग होने के साथ ही पूजा और शारीरिक सौंदर्य को बढ़ाने के लिए बहुत गुणकारी है। यहां जानें कि क्यों अन्य महंगे देल छोड़कर आपको सरसों के तेल से सिर की मसाज करनी चाहिए। 

सरसों तेल से रोकें बालों का झड़ना

सरसों का तेल प्राकृतिक गुणों से भरपूर होता है। इसमें पाए जाने वाले माइक्रोन्यूट्रिऐंट्स बालों की जड़ों और लंबाई पर बहुत प्रभावी तरीके से काम करते हैं। खासतौर पर उत्तर भारत में रहने वाले लोगों के घरों में पिछले कुछ साल पहले तक सिर्फ सरसों के तेल का ही उपयोग किया जाता था। लेकिन हावी होते बाजावाद के कारण यह सिलसिला टूट गया। जिसका असर लोगों के बालों पर देखने को भी मिल रहा है।

बालों को मोटा बनाने के लिए

आपके बाल यदि तेजी से पतले हो रहे हैं तो आप तुरंत सरसों के तेल का उपयोग करना शुरू करें। यदि आप नियमित रूप से इस तेल का उपयोग करेगीं तो सिर्फ 15 दिनों के अंदर आपको अपने बालों की सेहत में फर्क दिखाई देगा। इसके लिए आप हर रोज रात को सोने से पहले अपने सिर में सरसों के तेल की मालिश करें और अगली सुबह शैपू कर लें। शैंपू माइल्ड होना चाहिए।

ऐंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर

सरसों का तेल प्राकृतिक रूप से ऐंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। इसलिए यह सिर को त्वचा और जड़ों को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। क्योंकि इसे लगाने से सिर में किसी भी तरह का इंफेक्शन नहीं पनप पाता है। इसलिए हेयर फॉलिकल्स को विकसित होने के लिए पूरा पोषण और स्पेस मिलता है। इससे बाल स्वस्थ और मजबूत बनते हैं।

ड्रैंड्रफ से बचाए

नियमित रूप से सिर में सरसों तेल लगाने से सिर में डैंड्रफ की समस्या नहीं होती है। ऐसा इसके ऐंटी-फंगल गुणों के कारण होता है। यदि आपको डैंड्रफ की समस्या रहती है तो आप सरसों तेल का जरूर उपयोग करें। आप इसमें रतनजोत भी मिला सकती हैं। ऐसा करने से आपकी हेयर शाइन जल्दी बढ़नी।

बालों की लंबाई बढ़ाने के लिए

सरसों तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड, सेलेनियम और कैरोटीन जैसे तत्व प्राकृतिक रूप से मौजूद होते हैं। ये सभी बालों की लंबाई बढ़ाने के लिए आवश्यक होते हैं। यही वजह है कि जिन लोगों के बालों की ग्रोथ धीमी होती है, उन्हें सरसों तेल लगाने की सलाह दी जाती है।

जावेद हबीब कहते हैं ये बात

हेयर स्टाइलिस्ट और हेयर एक्सपर्ट जावेद हबीब अपने फैंस हेयर ऑइल से जुड़ी सलाह देते हुए कहते हैं कि हेयर ऑइल को हमेशा बालों की लंबाई में लगाना चाहिए। साथ ही उत्तर भारतीय लोगों को सरसों का तेल और दक्षिण भारतीय लोगों को नारियल का तेल अपने बालों में लगाना चाहिए। क्योंकि जो तेल जिस स्थान पर पैदा होता है, वह वहां की जलवायु के अनुकूल होता है और लोगों को शरीर को अधिक लाभ देता है।

Source : Agency