मुंबई
महाराष्ट्र के कैबिनेट मिनिस्टर नवाब मलिक (Nawab Malik) की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। उनके अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim Gang) के गैंग से संबंध थे। इस बात को अदालत ने भी माना है। कुछ दिनों पहले नवाब मलिक के खिलाफ ईडी (ED) ने चार्जशीट दाखिल की थी। जिसमें यह आरोप लगाया था कि गोवावाला कंपाउंड की जमीन को हासिल करने के लिए नवाब मलिक ने साजिश रची थी। उन्होंने हसीना पारकर (Haseena Parkar) के साथ कई बार मीटिंग की और मनी लॉन्ड्रिंग भी की थी। अदालत की इस कार्यवाही के बाद मलिक की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है। ईडी ने आरोप लगाया है कि हसीना पारकर, सरदार शाहवली खान, के साथ मलिक ने मीटिंग्स की थी। उनपर यह भी आरोप लगाया है कि वो सलीम पटेल, हसीना पारकर, सरदार शाहवली खान के संपर्क थे। दाउद गैंग से संबंध रखकर मलिक ने गोववाला कंपाउंड की जगह हासिल की थी।

मलिक पर गंभीर आरोप
नवाब मलिक को प्रवर्तन निदेशालय ने फरवरी माह में गिरफ्तार किया था। उस समय अदालत में जिरह के दौरान ईडी ने मलिक पर अंडरवर्ल्ड से संबंध रखने और टेरर फंडिंग का आरोप लगाया था। ईडी ने तब अदालत में कहा था कि नवाब मलिक के अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम गैंग के गुर्गों से संबंध हैं। साथ ही उनका हवाला जैसी अवैध गतिविधियों में सीधा संबंध भी है। ईडी ने कहा था कि इस मामले की जांच होना बहुत जरूरी है। इसलिए नवाब मलिक की कस्टडी मिलनी चाहिए। तभी मलिक और अंडरवर्ल्ड के संबंधों का खुलासा हो सकेगा।

निजी अस्पताल में इलाज की अनुमति
नवाब मलिक ने खराब सेहत का हवाला देते हुए अदालत से जमानत की अर्जी लगाई थी। अदालत ने इस अर्जी को नामंजूर कर दिया था। अदालत ने नवाब मलिक को राहत देते हुए यह कहा था कि वह मुंबई में निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा सकते हैं। अदालत ने यह रियायत नवाब मलिक को कुछ दिनों पहले ही दी थी। नवाब मलिक किडनी की समस्या से परेशान बताए जा रहे हैं। वह कुर्ला के किसी अस्पताल में इलाज करवाने के लिए भर्ती हो सकते हैं।

Source : Agency