मुंबई
 
महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद भारतीय जनता पार्टी की सरकार के जल्द गठन के आसार हैं। अगर ऐसा होता है, तो भाजपा को 2024 लोकसभा चुनाव में खासी मदद मिल सकती है। साथ ही 2019 में हुए चुनाव की स्थिति दोबारा तैयार हो सकती है, क्योंकि दल उत्तर प्रदेश और बिहार में पहले ही सत्ता में है। आंकड़े देखें, तो इन राज्यों से 168 लोकसभा सदस्य चुने जाते हैं। अब विस्तार से समझते हैं कि आखिर तीन राज्यों में सरकार के जरिए भाजपा 2024 के समीकरण अपने पक्ष में कैसे कर सकती है...

साल 2019 में इन तीनों बड़े राज्यों में नेशनल डेमोक्रेटिक एलायंस यानि NDA की सरकार थी। यहां 168 सीटों में से NDA ने 144 सीटें हासिल की थी। नतीजा यह हुआ कि गठबंधन लोकसभा में रिकॉर्ड 352 आंकड़े तक पहुंच गया था। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि भाजपा के पास महाराष्ट्र के लिए विकास का एक बड़ा प्लान मौजूद है। इमें बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोज्क्टस को फिर से तैयार करना और 2024 में मतदाताओं के सामने रखना शामिल है।
 
ऐसे समझें गणित
साल 2019 से पहले पार्टी ने बिहार में नीतीश कुमार के साथ सरकार बना ली थी। इससे पहले कुमार ने लालू प्रसाद यादव की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनता दल से नाता तोड़ा था। वहीं, भाजपा लंबे इंतजार के बाद यूपी में भी सरकार बनाने में सफल हुई थी। जबकि, महाराष्ट्र में 2019 विधानसभा चुनाव में राहें अलग होने से पहले भाजपा राज्य में शिवसेना के साथ ही सरकार चला रही थी।
 
आज या कल शपथ ले सकती हैं देवेंद्र फडणवीस
महाराष्ट्र में मंगलवार के बाद तेज हुई सियासी हलचल में फ्लोर टेस्ट की मांग से लेकर ठाकरे के इस्तीफे जैसी कई बड़ी खबरें सामने आई। अब संभावना है कि राजनीतिक उठा पटक का यह दौर अगले कुछ दिनों तक औऱ जारी रह सकता है।  भाजपा ने गुरुवार सुबह 11 बजे कोर कमेटी की बैठक बुलाई है। संभावनाएं जताई जा रही हैं कि देवेंद्र फडणवीस देर रात या कल यानि शुक्रवार को सीएम पद की शपथ ले सकते हैं।

 

Source : Agency