वॉशिंगटन
 नाटो को मजबूत करने की दिशा में अमेरिका ने एक और बड़ा कदम उठाया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है कि नाटो संगठन फिनलैंड और स्वीडन को अपना सदस्य बनाने के लिए न्योता देते हुए गर्व महसूस कर रहा है। बाइडेन ने कहा कि स्वीडन और फिनलैंड का नाटो में शामिल होने का फैसला हमे और भी मजबूत बनाने जा रहा है। हमारी समग्र ताकत को बढ़ाने की दिशा में यह बड़ा कदम है। बाइडने ने कहा कि नाटो संगठन हर इंच जमीन की सुरक्षा करेगा।

हम फिलनैंड और स्वीडन का नाटो में स्वागत करते हैं, इससे आने वाले समय में यह संगठन और भी मजबूत होगा, यह ऐतिहासिक फैसला है। इसे भी पढ़ें- 27 साल में बिना छुट्टी लिए जॉब करने वाले कर्मचारी को मिला बड़ा तोहफा, लोगों ने दिए 1.50 करोड़ रुपए बुधवार को नाटो के सदस्य देशों ने आधिकारिक तौर पर स्वीडन और फिलनैंड को नाटो में शामिल होने का न्योता दिया। शुरुआत में तुर्की ने कुछ आपत्ति जताई थी, लेकिन बाद में तुर्की भी इन देशों के नाटो में शामिल होने पर राजी हो गया। नाटो ने बुधवार को यूक्रेन संकट के बीच रूस को तत्कालिक चुनौती बताया और यूरोप को रूस से सीधा खतरा बताया। अमेरिकी अधिकारियों ने प्रेस से कहा कि रूस यूरोप की सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा है, हम स्वीडन और फिनलैंड का स्वागत करते हैं।

Source : Agency