बक्सवाहा
शराबी शिक्षकों के बाद शराबी अधिकारी नशे में शिक्षा के मंदिर में पहुंच रहे है जब शिक्षा विभाग के अधिकारी ही शराब के नशे में अपने ऑफिस में बैठे हो  तो विकासखंड के स्कूल के सभी शिक्षकों पर कार्यवाही कैसे हो सकती है।

मामला बक्सवाहा विकासखंड का है जहां लगातार शिक्षक और अधिकारी नशे में धुत होकर स्कूल और ऑफिस पहुंच रहे है ऐसा ही मामला आज बक्सवाहा की ब्लॉक संसाधन केंद्र "बीआरसी" में देखने को मिला जहां बीआरसी के पद पर बैठे महेश विश्वकर्मा शराब के नशे में  मिले।

जानकारी के अनुसार बुधवार की दोपहर जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि मोती यादव एवं उपाध्यक्ष नरेंद्र ठाकुर द्वारा बक्सवाहा बीआरसी का निरीक्षण करने पहुंचे तो बीआरसी बक्सवाहा अपने ऑफिस में नहीं मिले फोन लगाने पर बीआरसी कुछ समय बाद अपने ऑफिस में आकर बैठ गए नशे में धुत बीआरसी महेश विश्वकर्मा अपने होश में नहीं थे ।

जिसके बाद उन्होंने किसी भी प्रकार की बात करने से मना कर दिया जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि मोती यादव द्वारा जब शराब पीने के बारे में पूछा और कहा कि आपका मेडिकल कराना है लेकिन शराबी अधिकारी मौके से बहाना बनाकर निकल गए।
दूसरा मामला पड़रिया माध्यमिक शाला एवं प्राथमिक शाला का है जहां शराब के नशे में बीआरसी द्वारा अश्लील शब्दों का प्रयोग किया गया जिसके बाद स्कूल में पदस्थ प्राचार्य द्वारा पंचनामा तैयार कर उच्च अधिकारी के लिए प्रस्तुत किया गया है।
इसके पहले भी बक्सवाहा विकासखंड के निमानी और रईयन स्कूलों के प्राचार्य की शिकायत शराब के नशे में होने के कारण की गई थी ।

आपके द्वारा ये मामला संज्ञान में आया है जल्द ही इनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। - आर पी लखेर (बीआरसीसी)

Source : Agency