नई दिल्ली
दुनिया में सबसे ताकतवर देशों में से एक चीन हर क्षेत्र में आगे है। चीन की टेक्नोलॉजी बहुत आगे है। चीन कुछ भी अजीबो-गरीब कर सकता है। चीन ने अब समंदर पर दुनिया का सबसे लंबा पुल भी बनाया है। चीन ने समुंदर पर दुनिया के सबसे लंबे पुल का निर्माण करने में कामयाबी हासिल की है। यह पुल 55 किलोमीटर लंबा है।

इसको हांगकांग-झुहाई एंड मकाऊ ब्रिज नाम दिया गया है, बुधवार को इसे आम जनता के लिए खोल दिया हैं। ये नदी या समुद्र, कहीं पर भी बना दुनिया का छठा सबसे लंबा पुल है। पुल साउथ चाइना सी पर पर्ल रिवर डेल्टा के पूर्वी और पश्चिमी छोर को जोड़ेगा।

झुहाई चीनी मैनलैंड पर बसा शहर है और इस पुल के जरिए अब यह हांगकांग और मकाऊ दोनों प्रशासनिक क्षेत्रों से जुड़ जाएगा। इस पुल में 4 लाख टन स्टील लगा है जो रिएक्टर पैमाने पर 8 की तीव्रता वाले भूकंप को भी आसानी से झेल सकता है। इस पुल के जरिए हांगकांग इंटरनेशनल एयरपोर्ट से झुहाई की दूरी मात्र 45 मिनट में पूरी की जा सकेगी।


पहले इस दूरी को तय करने में 4 घंटे का समय लगता था। इसके साथ हांगकांग और झुहाई के बीच का सफर तीन घंटे की बजाय मात्र सवा घंटे में पूरा किया जा सकेगा। वहीं इस पुल के कुछ आलोचकों का कहना है कि इस पुल के जरिये चीन हांगकांग और मकाऊ पर अपने नियंत्रण का राजनीतिक संदेश देना चाहता है।

ये ब्रिज तीनों शहरों के बीच की दूरी महज एक घंटे पर ले आएगा और इससे चीन के आर्थिक विकास को भी बल मिलेगा। साल 2009 में इस पुल का निर्माण कार्य शुरू हुआ था। इस पुल को बनने में कुल खर्च 17.3 अरब डॉलर आया है।

Source : Agency